Full Form of ATM. ATM ka full form

Spread the love

 Full Form of ATM. ATM का full form 

 

नमस्कार दोस्तों आप सभी को आपके वेबसाइट www.techreviewpad.com में स्वागत करता हु. दोस्तों आज के इस Article में हम लोग ATM full form, ATM क्या है? कैसे काम करता है? और ATM के प्रकार क्या है?ATM  के parts  के बारे में विस्तार में जानेंगे.

दोस्तों आप सभी ने ATM के बारे में तो सुना ही होगा. और मैं आपको इस आर्टिकल में  ATM के बारे में कुछ रोचक तथ्य बताने वाला तो अगर आप ATM के बारे में संपूर्ण जानकारी लेना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं. तो चलिए दोस्तों हम लोग आगे बढ़ता है.

 

Full Form of ATM.  ATM का full form

दोस्तों अभी के इस एडवांस युग में किसी भी आदमी को जब भी पैसे की जरूरत होती है तो  तो उसे बैंक जाने की जरूरत नहीं पड़ती है वह अपने  जरूरत के पैसे को ATM के द्वारा बड़े ही आराम से निकाल सकता है. लेकिन अगर हम उस समय की बात करें जब ATM नहीं हुआ करती तो किसी भी आदमी को पैसे निकालने के लिए बैंक जाना पड़ता था और और फिर एक लंबे लाइन पर लग  के पैसे निकालना पड़ता था जिसके कारण सिर्फ पैसे निकालने के  वजह से उस आदमी का पूरा दिन बर्बाद हो जाता था.

 दोस्तों अभी के समय में हम लोग ATM का  use तो सब करते हैं लेकिन क्या आप यह जानते हैं की ATM का  full form क्या है? ATM काम कैसे करता है? ATM के प्रकार कौन-कौन से हैं और अगर आप ATM के बारे में विस्तार में पूरी जानकारी पाना चाहते हैं तो बिल्कुल आप हमारे साथ बने रहिए:-

 
ATM का full form क्या है? What is the full form of ATM?
 

दोस्तों  What is the full form of ATM  यह सवाल बहुत सारे Govt. Exam में पूछा जाता है लेकिन हमें पता नहीं होने के कारण हम या तो इसका जवाब छोड़ देते हैं या फिर कोई गलत option पर tick  कर लेते हैं. बहुत सारे लोगों की यह ग़लतफहमी होती है की ATM का full form Any time money है. लेकिन दोस्तों यह सरासर गलत है. और एक मजे की बात यह भी है की जो भी exam में यह  सवाल पूछा जाता है उसके Option में से एक option जरूर  any time money होता है. और जिस को सही  जवाब पता नहीं होता वह इस  option को tick  कर देता है और  जिससे उत्तर गलत हो जाता है.  दोस्तों आज मैं आपको ATM का सही full form बताने जा रहा हूं.

A – Automated T – Teller M – Machine

तो दोस्तों ATM का सही full form Automated Teller Machine होता है.

हिंदी में ATM का full form. ATM full form in Hindi.

A – Automated ( स्वचालित)

T – Teller ( टेलर)

M – Machine ( मशीन)

 तो दोस्तों हिंदी में ATM का full form  स्वचालित टेलर मशीन है.

What is ATM( Automated Teller Machine)? ATM क्या है?

ATM एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जिसकी मदद से हम लोग अपने Bank Account से Financial transaction (वित्तीय लेन देन) करने में हमारी मदद करता है. अभी के ATM मशीन की मदद से हम लोग अपने बैंक अकाउंट  मैं पैसा जमा कर सकते हैं. पैसा निकाल सकते हैं, किसी और के बैंक में पैसे  transfer कर सकते हैं. इस समय में ATM मशीन की मदद से लेन देन बहुत ही आसान हो चुका है.

यह एक Automatic मशीन होने के कारण यह  बहुत से banking प्रक्रिया को सहज कर देता है.और इसमें वित्तीय  transaction के लिए कोई भी human cashier की जरूरत नहीं पड़ती है. 

इस मशीन को operate करने के लिए आपको बस एक ATM  Card की जरूरत पड़ती है जो  plastic का बना होता है और उस  plastic के  card में एक  magnetic strip लगा होता है जिसमें आपके  बैंक  details दिए होते हैं. जब भी आप कार्ड को ATM मशीन के अंदर डालते हो तो उस  magnetic strip मैं लिखा code,    decode हो जाता है और आप आराम से आपके बैंक अकाउंट को   एक 4  digit PIN की मदद से Access कर पाते हो. 

ATM काम कैसे करता है? How ATM Works?

सबसे पहले आप ATM card को ATM machine में insert करते हो तो उसमे उपस्थित card reader आपके card के पीछे उपस्थित Magnetic Strap में उपस्थित code को  decode करके  बैंक के server में भेजता है. जिसके कारण ATM screen पर आपका बैंक  detail आ जाता है और आप आराम से अपने ATM के 4 digit pin को useकरके Financial Transaction कर सकते हो. 

Basic and Important Parts of ATM. ATM के भाग:-

दोस्तों जैसे कि हम कंप्यूटर में देखते हैं कि हमारे पास  input देने के लिए एक input device होता है और फिर  उस  input data को  process किया जाता है और फिर  output device के माध्यम से हमें परिणाम प्राप्त होता है. ठीक उसी प्रकार ATM में भी  input device और  output device होते हैं:-

 

Parts of ATM
Parts of ATM



ATM Input Device:-

Keypad:-  keypad ATM मशीन का एक महत्वपूर्ण  input device है जिसके मदद से हम लोग ATM मशीन को  navigate कर सकते हैं जब भी हम हमारे ATM कार्ड को मशीन अंदर डालते हैं तो हमें  ATM screen पर बहुत से Option प्राप्त होते हैं जिस  option को operate करने के लिए और अपने Pin को  ATM मशीन में इनपुट करने के लिए  keypad का उपयोग किया जाता है.

Card Reader:- card reader इस मशीन का सबसे महत्वपूर्ण Device है यह भी एक input device है क्योंकि जब भी हम  card को मशीन में  insert करते है तो card reader की मदद से ही card के पीछे उपस्थित Megnetic Strip में coded data को read करती है और उसे bank के server को भेजती है फिर हम अपने personal bank से connect हो जाते है. जिसके कारण ही हम ATM के द्वारा Financial Transaction कर सकते हैं.

 

जरुर पढ़े:- Computer क्या है?Computer का full form.

 
ATM Output Device:-
 

Screen:- जब भी हम  card reader के द्वारा कार्ड को insert करते हैं और वह बैंक से  connect हो जाता है  तो हमें हमारे बैंक के सारे information screen पर display होते हैं और उसे हमें navigate करना पड़ता है.अभी के समय में तो ATM में Touch screen Display का उपयोग किया जाता है. जिसमे keypad की जरुरत ही नहीं पड़ती.

Cash Dispenser:- यह ATM का सबसे महत्वपूर्ण part होता है. जिसकी मदद से हमलोग अपने मनचाहे amount में ATM से cash को निकालने में सक्षम हो पाते है.

Receipt Printer:- जैसे आपको भी पता है की printer एक output device है.और  printer का काम  soft copy को hard copy में convert करना होता है. ATM में भी  printer का काम  print करना है यहां  thermal printer का  use होता है.  इसके द्वारा आपको एक receipt प्राप्त होता है जिसमें आपके द्वारा किए गए कुछ  transaction और available bank balance को दिखाता है.

Speaker:-    जब भी आप कोई भी ATM से लेन देन करते हैं  या फिर ATM पर कोई security issue रहता है तो यह हमको feedback देने का काम करता है.

Different Types of ATM. ATM के प्रकार:-

On SIte ATM:- ऑनसाइट ATM वह ATM होते हैं जो बैंक शाखा में स्थित  होता है

.

Off Site ATM:-  ऑफसाइट ATM वह ATM है  जो बैंक शाखा के परिसर के बाहर स्थित होते हैं.

Worksite ATM:- यह ATM कोई एक संगठन या कंपनी के  campus के अंदर स्थित होता है और उसे उस कंपनी या संगठन के कर्मचारियों को द्वारा ही उपयोग में लाया जाता है.

Mobile ATM:-   इस ATM को कस्टमर की जरूरत के हिसाब से इधर उधर ले जाया जा सकता है.

White Label ATM:- इन ATM को NBFC( Non Banking Financial Companies) द्वारा स्थापित किया जाता है.

Green Label ATM:- यह ATM को कृषि से संबंधित लेन देन के लिए उपयोग में लाया जाता है.

Orange Label ATM:-  यह ATM Share Transactions  प्रदान करता है.

Yellow Label ATM:- यह ATM को E-Commerce के लिए उपलब्ध किया जाता है.

Brown Label ATM:- Brown Label ATM वो ATM होते है जिनमे ATM machine और hardware पर किसी service provider का ownership होता है but उसमे Cash management और banking network से connectivity का कम किसी bank के द्वारा ही होता है.

Pink Label ATM:- इन ATM का उपयोग महिलाए ही कर सकती है. 

Biometric ATM:- इन ATM में bank details को access करने के लिए आपको पहले अपना biometric यानि Fingerprint Submit करना होता है.

 
ATM के फायदे. Advantage of ATM:- 
 
  1. ATM के उपयोग से हमें समय का बचाव होता है. अगर हम Direct बैंक से पैसे निकालने जाता है तो बैंक में बहुत लंबे लाइन लगी होती थी जिसके कारण  हमारा बहुत समय बर्बाद हो जाता था.

  2. अभी के समय में ATM हर जगह उपलब्ध होती है तो आपको अपने जेब में  ज्यादा पैसे रखने की जरूरत नहीं पड़ती. जिससे चोरी की संभावना भी कम हो जाती है.

  3.   हर बैंक  अपने ATM को 24×7 ओपन रखती है ताकि हर एक आदमी कभी भी ATM  का उपयोग कर सकें.

  4. ATM कार्ड बहुत ज्यादा secure होती है. आपके ATM कार्ड को कोई भी आदमी आपके ATM  pin को जाने बिना  access नहीं कर सकता.

  5. अगर आप  अपने bank account में अपना  mobile number  register करते हो तो आप जब भी अपने ATM से पैसे निकालते हो या फिर किसी और को  transfer करते हो तो आपको S.M.S. के द्वारा उसका message मिल जाता है.

  6. ATM card का use कोई भी online shopping में कर सकते हो. 

 
ATM के  नुकसान. Disadvantage of ATM:-
 

दोस्तों जैसे कि एक कहावत है कि जिस चीज के जितने फायदे होते है उसके उतने नुकसान भी होते है तो मैं आपको ATM के नुकसान के बारे में भी बता देता हूं:-

  1. हर बैंक ATM  की service देने के लिए हर साल कुछ rs. charge करती है.

  2.  अब जब भी अपने ATM को use करते हो आपको अपने  ATM Pin code को  private ही रखना चाहिए.

  3.  आप किसी दूसरे बैंक के ATM से 1 महीने में तीन बार तक ही free transaction कर सकते हो. अगर आप 3 बार से ज्यादा दूसरे बैंक के ATM के द्वारा Financial Transaction कर रहे हो तो आपको उस बैंक को कुछ rs. Charge देने पड़ेंगे. 

ATM के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य:- 

Q. सबसे पहले ATM के बारे में idea देने वाले व्यक्ति का नाम क्या है?

पहले ATM का आविष्कार Luther George Simjian के द्वारा 1939 में किया गया था. उन्होंने  इस ATM मशीन का नाम  Bankmatic रखा परंतु उस समय उनके द्वारा आविष्कार  इस मशीन को स्वीकार नहीं किया गया. और इस मशीन का आविष्कार असफल हो गया.

Q. ATM खोज किसने की थी?

John Shepherd Barro ने 1967 में किये थे.

 Q. दुनिया का सबसे पहला ATM कौन सा है?

– Barclays Bank of London मैं वह 1967 में स्थापित किया गया था.

 Q. भारत का सबसे पहला ATM कौन सा है?

– HSBC (Hongkong and Shanghai Banking Corporation) के द्वारा 1987 में स्थापित किया गया था.

Q. विश्व का पहला Floating ATM कौन सा है और कहां पर है?

– State Bank of India ATM जो Kerala में उपस्थित है.

Romaniya में ऐसा ATM है जिसकी मदद से कोई भी आम आदमी बिना bank account के पैसे निकल सकता है.

Brazil में biometric ATM का उपियोग किया जाता है.

Q. पूरे विश्व में सबसे ऊँचे स्थान पर स्थित ATM कौन सा है?

– Union Bank of India के द्वारा स्थापित यह ATM Nathu-La मैं है. 

 

Final Words:-

 

दोस्तों मेरे को यह आशा है की आप सभी को मेरे द्वारा लिखा गया यह article पसंद आया होगा. अगर आपको कोई सवाल या सुझाव हो या कोई और topic पे article चाहिए तो आप कृपया करके comment section पे comment करे या आप हमारे official mail ID techreviewpad@gmail.com पे mail कर सकते है.

दोस्तों अगर आपको article पसंद आया तो आप इस article को अपने दोस्तों और घर वालो के साथ share जरुर करे. Thank You!!!!!

 
 

Spread the love

Leave a Comment