कंप्यूटर क्या है? और कैसे काम करता है? पूरी जानकारी हिंदी में.

Spread the love

कंप्यूटर क्या है? और कैसे काम करता है? पूरी जानकारी हिंदी में .

नमस्कार दोस्तों आप सभी को आपके वेबसाइट www.techreviewpad.com में स्वागत करता हूं.दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम लोग कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे.
दोस्तों आज के समय में कंप्यूटर का उपयोग लगभग हर एक जगह पर हो रहा है जैसे  जैसे सारे स्कूल्स में,  सारे कॉलेज में और अभी तो सारे ऑफिस में भी  कंप्यूटर के बिना कुछ काम नहीं हो सकता. कंप्यूटर अभी के समय में हमारे  जीवन में एक अहम भूमिका निभाता है.  तो इतनी important डिवाइस के बारे में हमें पूरी नॉलेज तो रखना ही चाहिए.
तो दोस्तों इसीलिए मैं आज आप सभी के लिए कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर कैसे काम करता है? कंप्यूटर का इतिहास क्या है? कंप्यूटर के भाग क्या-क्या है? कंप्यूटर के क्या-क्या फायदे हैं? और क्या-क्या नुकसान है? के बारे में पूरी जानकारी आपके लिए लेकर आ चुका हूं.तो दोस्तों कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी  स्टेप बाय स्टेप प्राप्त करेंगे:-
 
Computer kya hai

 

 कंप्यूटर क्या है?

दोस्तों कंप्यूटर एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो इनपुट डिवाइस की मदद से डाटा प्राप्त करता है और उसे प्रोसेसर या सीपीयू की मदद से  प्रोसेस करके उसे  आउटपुट डिवाइस की मदद से हमें  परिणाम प्राप्त होता है.
कंप्यूटर का  उपयोग हम लोग जटिल से जटिल कामों को आसानी और बहुत ही कम समय में करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है कंप्यूटर का दिमाग किसी एक आम आदमी के दिमाग से लगभग 1000 गुना ज्यादा तेज होता है. जिस प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने के लिए एक आम आदमी को कुछ घंटे लग जाते हैं उसी  समान काम को करने के लिए एक कंप्यूटर को 1 सेकेंड से भी कम का समय लगता है.
कंप्यूटर शब्द का निर्माण एक लैटिन शब्द Computare से हुआ है  इसका मतलब है गणना करना. कंप्यूटर को हम लोग गणना करने वाली मशीन भी बोल सकते हैं.
कंप्यूटर   को हम लोग कुछ भी   इंस्ट्रक्शन देते हैं तो वह उस इंस्ट्रक्शन को हमारी लैंग्वेज में नहीं समझता हैं उसे उस इंस्ट्रक्शन को समझने के लिए मशीन लेवल लैंग्वेज या फिर बायनरी लैंग्वेज जिससे कि हम 0,1 भी बोलते हैं  मैं कन्वर्ट करके उसे समझता है.
कंप्यूटर का यूज अभी के समय में धीरे धीरे बढ़ता ही जा रहा है क्योंकि जब भी हम कंप्यूटर पर कोई भी काम करते हैं तो इसमें गलती होने  की संभावना बहुत कम हो जाती है यह बहुत ही efficiently काम करता है. और यह किसी आदमी की अपेक्षा काम को बहुत ही कम समय में पूरा कर देता है.
कंप्यूटर अभी शिक्षा, सरकारी और सहकारी कंपनियों में बहुत ज्यादा उपयोग में लाया जा रहा है.
 

Computer की परिभाषा क्या है?

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो एक स्वचालित तथा निर्देशों के अनुसार कार्य करने वाली इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसमें किसी भी data को प्राप्त करने या संगृहीत करने तथा process करने और process किये गए data को store करने की भी क्षमता होती है.
Computer को कोई भी काम करने के लिए चार मुख्य stages से होकर गुजरना होता है :-
Input, Process, output and storage.
 

कंप्यूटर शब्द को हिंदी में क्या कहते हैं?

कंप्यूटर  शब्द एक लैटिन शब्द Computare से बना है और कंप्यूटर का मतलब है  गणना करने वाला . तो कंप्यूटर का हिंदी मतलब गणना करना होगा. लेकिन असल में कंप्यूटर को हिंदी में संगणक बोला जाता है.
संगणक का मतलब है खुद से गणना करना.
 

Computer का फुल फॉर्म क्या है?

वैसे तो शायद ही आपने कभी सुना होगा कि Computer का कोई फुल फॉर्म क्या होता है पर मैं आपको आपके knowledge के लिए Computer का एक काल्पनिक का फुल फॉर्म बता देता हूं:-
C O M P U T E R
C– Commonly  O-Operated  M-Machine  P-Particularly  U-Used for  T-Technical and   E-Educational  R-Research


कंप्यूटर कैसे काम करता है?

दोस्तों अभी के समय में कंप्यूटर तो लगभग सभी use करते है. लेकिन क्या दोस्तों अपने कभी सोचा है की हमारा कंप्यूटर काम कैसे करता है?  तो दोस्तों इस टॉपिक में हम यह समझेंगे कि कंप्यूटर काम कैसे करता  है:-
 दोस्तों कंप्यूटर को काम करने के लिए चार प्रोसेस से होकर गुजरना पड़ता है:-
Input
Process
Output
Storage
अब हम चारों प्रोसेस के बारे में  जान लेते हैं:-
computer kya hai
Input :-  हम जब भी कोई डाटा या इंस्ट्रक्शन को input device की मदद से कंप्यूटर को देते हैं तो उसे  इनपुट डाटा कहते हैं. जैसे:-   हम कंप्यूटर में कीबोर्ड की मदद से एक लेटर H  टाइप करते हैं. तो इसमें हमारा कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस है और जो हमने उस पे H टाइप किया है  वह एक डाटा है  जो हम कंप्यूटर को कीबोर्ड के माध्यम से दे रहे हैं.
Process:-  जब भी हम कोई इनपुट कंप्यूटर में देते हैं के बाद  उस इनपुट  data  को  दिखाने के लिए कंप्यूटर  में उपस्थित प्रोसेसर के द्वारा प्रोसेस किया जाता है. जैसे:- कि हमने H टाइप किया था तो वह अभी  कंप्यूटर में लगे प्रोसेसर के माध्यम से प्रोसेस हो रहा होगा.
Output:- जब भी कोई data या instruction  के प्रोसेस होने का काम खत्म होता है तो वह data या instruction को अपने output device monitor की मदद से उसे दिखा देता है. जैसे कि:- हमने जो H टाइप किया था वह भी प्रोसेस हो रहा था तो अभी उसका प्रोसेसिंग खत्म  होने के बाद  कंप्यूटर उसे अपने मॉनिटर  पे  दिखा देगा.
Storage:-  Storage के माध्यम से हम कंप्यूटर के द्वारा  आउटपुट कोई भी डाटा  या इंस्ट्रक्शन को हम  कंप्यूटर के स्टोरेज में  बड़े ही आसानी से save कर सकते हैं.

 
 

कंप्यूटर में Software और Hardware क्या होता है?

 
दोस्तों  अब हम समझेंगे की कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर क्या होता है:-
 कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनों की एक अहम भूमिका होती है हम किसी भी एक के बिना कंप्यूटर को ऑपरेट नहीं कर सकते:-
Software:- सॉफ्टवेयर एक ऐसे codes या इंस्ट्रक्शन का कलेक्शन होता है जिसे हम कंप्यूटर में इंस्टॉल कर सकते हैं इसी की मदद से कंप्यूटर Run करती है. जैसे कि हमारे कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम हम ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना अपने कंप्यूटर को ऑन तक नहीं कर सकते. हमारे कंप्यूटर में और भी बहुत सारे सॉफ्टवेयर सो सकते हैं. जैसे :- MS Office, Web Browser
computer kam kaise karta hai

 

 
Hardware:-  हार्डवेयर  कंप्यूटर का वह भाग होता है जिसे हम देख  या छू सकते हैं हार्डवेयर का एक physical अपीरियंस होता है. जैसे कि:- हम अपने कंप्यूटर में मॉनिटर, माउस, सीपीयू,  कीबोर्ड, यूपीएस और प्रिंटर का यूज़ करते हैं यह सभी कंप्यूटर हार्डवेयर कहलाता है. 
 
computer kam kaise karta hai

 

 

कंप्यूटर के महत्वपूर्ण भाग कौन-कौन से हैं? Important Parts of Computer in Hindi.

Computer Cabinet Case
Monitor
Mouse
Keyboard
 

Computer Cabinet Case:-

अक्सर हम Computer Cabinet Case  को सीपीयू बोलते हैं लेकिन दोस्तों असल में सीपीयू कंप्यूटर का एक प्रोसेसर या माइक्रोप्रोसेसर होता है.और हम लोग इस पूरे बॉक्स को सीपीयू बोलते हैं लेकिन दोस्तों ऐसा नहीं होता है सीपीयू और प्रोसेसर एक बात ही अलग चीज होती है.
कंप्यूटर केबिनेट केस  वह  बॉक्स है जिसमें कंप्यूटर को चलाने के लिए सारे महत्वपूर्ण उपकरण लगे होते हैं इसके उपयोग से ही हमारा कंप्यूटर चल पाता है. जैसे हम कुछ  उपकरणों का उदाहरण ले लेते हैं:-
Motherboard
Processor/CPU(Central Processing Unit)
GPU
RAM
Storage
Ports
Power Supply Unit etc. जैसे उपकरण लगे होते हैं.
 

Monitor:-

दोस्तों मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस है.मॉनिटर को सामान्यता Visual Display Unit (VDU)  भी कहा जाता है. मॉनिटर आमतौर पर कंप्यूटर  के स्क्रीन को बोला जाता है. यह एक computer का सबसे महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस होता है जिसकी मदद से हम कोई भी आउटपुट को स्क्रीन पर देख सकते हैं.
मॉनिटर को दो भागों में डिवाइड किया गया है:-
Cathode-Ray Tube (CRT):-
Cathode-Ray Tube वह मॉनिटर है जिसमें स्क्रीन में  कुछ भी डिस्प्ले करने के लिए Cathode-Ray Tube टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है. अभी के समय में CRT टेक्नोलॉजी पुरानी हो चुकी है.अभी CRT मॉनिटर को उपयोग में नहीं लाया जाता क्योंकि यह बोहोत ही बड़े size का होता है. और यह power efficient नहीं होते.
Flat-Panel Display:- 
यह LED और LCD technology के साथ आता है.और यह छोटे और flat size के होने और power efficient होने की वजह से अभी के समय में market में यही computers का use होता है.

 Keyboard:-

यह एक input device है जिसकी मदद से हमलोग कंप्यूटर में text या character input कर सकते है. हर एक standard कीबोर्ड में लगभग 108 keys  होते हैं. और कीबोर्ड में हर एक  keys को अलग-अलग नामों से जाना जाता है जैसे:- space bar key , enter key, Alphabetical key ,Numeric key, function key etc.
 

Mouse:-

माउस एक इनपुट डिवाइस है. जिसकी मदद से हम लोग कंप्यूटर के साथ Communicate कर सकते हैं. आमतौर पर  माउस को pointing  डिवाइस भी कहा जाता है.जब भी हम लोग माउस को Plug in करते हैं तो हमारे  मॉनिटर में एक Arrow टाइप का साइन आता है. वह साइन को हम लोग करसर  बोलते हैं और उसी करसर  की  मदद से हम लोग मॉनिटर पर दिख रहे Objective पर क्लिक कर पाते.  माउस के कंप्यूटर में अहम भूमिका निभाती है.
 

Printer:-

यह एक आउटपुट डिवाइस है. प्रिंटर की मदद से हम लोग सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी में कन्वर्ट कर लेते हैं.हम कंप्यूटर पर वर्ड या एक्सेल की मदद से कुछ भी फाइल बनाते हैं  तो वह सॉफ्ट कॉपी में होता है और  जब हम किसी भी डॉक्यूमेंट को प्रिंटर के माध्यम से प्रिंट कर लेते हैं तो वह हार्ड कॉपी में आ जाता है.
 प्रिंटर मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं:-
इंपैक्ट प्रिंटर में पेंट करने के लिए एक  रिबन का यूज़ होता है  जब यह रिबन  पेपर के साथ टकराता है तो  यह  प्रिंट  करता है.
Non Impact Printers :-
Non Impact Printer वह प्रिंटर है जिसमें प्रिंट करने के लिए रिबन का उपयोग नहीं होता है. और इसे पेज printer  के नाम से भी जाना जाता है.

कंप्यूटर में Input और Output Device क्या होता और उसके उदाहरण


Input Device :-

Input device वो device है जो कंप्यूटर को data input देती है.इसे ही इनपुट device कहते है .और वो इनपुट data को कंप्यूटर process करता है. जैसे :-
Key board एक इनपुट device है और key board के माध्यम से हमलोग data कंप्यूटर में इनपुट करते है.और भी Input device के उदाहरण:-
Keyboard, Mouse, Microphone, Webcam, Bar code Reader etc.

Output Device :-

Output Device वह device है जिसकी मदद से हमारे कंप्यूटर में दिया गया input process होने के बाद output device में रिजल्ट show करती है. जैसे :-
हमने keyboard से इनपुट दिया था तो वो process होने के बाद monitor पर show करेगा तो monitor एक output device है.Output device के उदाहरण:-
Monitor, Printer Speaker, Projector etc.

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया? Who invented computer in Hindi? who is the father of computer in hindi.

 
दोस्तों अगर देखा जाए तो कंप्यूटर का आविष्कार करने में बहुत सारे  लोगों ने  काम किया.  पर  हम लोग Charles Babbage को ही कंप्यूटर का आविष्कारक माना जाता है.Charles Babbage  को कंप्यूटर का जनक भी बोला जाता है.
 इन्होंने सबसे पहले  सन 1822  में Difference Engine  का निर्माण किया. यह मशीन पहला ऐसा मशीन था जो खुद से सारी Computing करता था.  यह एक प्रकार से कैलकुलेटर की तरह था. मशीन की मदद से कुछ  नंबर्स को कैलकुलेटर कर सकते  थे तो और आउटपुट रिजल्ट का हार्ड कॉपी भी निकाल सकते  थे.
 के बाद इन्होंने सन 1837 में Analytical Engine का आविष्कार किया. यह एनालिटिकल इंजन  पूरी दुनिया का सबसे पहला Mechanical computer  था. इस डिवाइस में ALU(Arithmetic and Logic Unit), Basic Flow Control, Punch Cards for data input and Memory जैसे महत्वपूर्ण फीचर्स मौजूद थे.  इसी के साथ Charles Babbage ने general purposeकंप्यूटर की शुरुआत कर दी थी.
 इसी कारण से Charles Babbage को Father Of Computer  भी बोला जाता है.

पुरे विश्व और भारत का सबसे पहला Computer का नाम क्या था? और full form

  1. पुरे world का सबसे पहला कंप्यूटर 1946 ENIAC है जो 1946 में बनाया गया था.
  2. पुरे  world का सबसे पहला व्यावसायिक computer UNIVAC है जो 1951 में बनाया गया था
  3. ENIAC का full form Electronic Numerical Integrator and Computer है.
  4. UNIVAC का full form Universal Automatic Computer है.
  5. भारत का पहला कंप्यूटर ISIJU है. जिसे 1966 में विकशित  किया गया था.

कंप्यूटर का इतिहास. Generation of Computer in Hindi

 
दोस्तों अगर मैं कंप्यूटर की जेनरेशन या इतिहाश की बात करूं तो कंप्यूटर जेनरेशन को पांच पीढ़ी में डिवाइस किया गया है तो हम लोग पांच पीढ़ी को one by one step के हिसाब से  पूरी Detail में समझेंगे:-
 

Computer   Generation

Time of Generation

Specialty(विसेश्ताए)

Eg. of Computers

1st gen.

1940 to 1956

1. इस generation के कंप्यूटर में Vacuum Tube का use किया गया था.

2. इन computers में data इनपुट करने के लिए Punch card या Paper Tape का इस्तेमाल किया गया था.

3. और data output के लिए printout का use किया जाता था.

4. Memory के लिए Magnetic drum का उपयोग किया जाता था. 

5. इन कंप्यूटरों में Binary language का उपयोग किया गया था.

 6.यह कंप्यूटर size में बहुत  बड़े होते  थे इसकी वजह से इन्हें चलाने के लिए बहुत ज्यादा power  की जरूरत पड़ती थी और यह साइज में बड़े होने के कारण heating issue भी बहुत ज्यादा  होती थी.

7. इसे set up करने के लिए AC की आवश्यकता पड़ती   थी. 

ENIAC,EDVAC, UNIVAC  etc.

2nd gen

1956 to 1963

1. इस generation computer  में ट्रांजिस्टर टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता था.

2. Vacuum Tube की अपेक्षा ट्रांजिस्टर बहुत ज्यादा  छोटी होती थी. जिसके वजह से सेकंड जेनरेशन में कंप्यूटर का साइज छोटा हो गया था. 

3. इन computers में High Level Language जैसे COBOLऔर FORTARN का use किया गया था.

4. इन computers में data इनपुट करने के लिए Punch card और output के लिए printout का उपयोग किया जाता था. 

5. ट्रांजिस्टर के यूज  से 2nd gen के कंप्यूटर की processing power 1st gen. के processing power से बहुत ज्यादा हो चुकी थी.

6. इसे set up करने के लिए AC की आवश्यकता पड़6ती   थी. 

  

Honeywell,

400 IBM,

1008 Mark,

UNIVAC 1108,

IBM 1620,

IBM 7094

3rd gen

1963 to 1971

1. 3rd gen के कंप्यूटर में  ट्रांजिस्टर की जगह पर  IC ( Integrated Circuit) का प्रयोग किया जाता था.

2. 3rd gen मैं कंप्यूटर का साइज सेकंड जेनरेशन से छोटा हो चुका था.

3.  इन कंप्यूटर्स में Heating Issue भी बोहोत कम हो चुकी थी.

4.3rd gen के computers की processing power 2nd gen के  processing power से बोहोत ज्यादा थी.

5.इन computers में पहली बार monitor और keyboard जैसे technology का प्रयोग किया गया था.

6.3rd gen में computers को पहली बार commercial use के लिए launch किया गया था. 

7. इन computers में भी High Level language जैसे :- BASIC का use किया जाता था.

8. इसे set up करने के लिए AC की आवश्यकता पड़ती   थी. 

Hewlett-Packard.2116A,

Honeywell 4200,

IBM 360/85

IBM-360 series,

Honeywell-6000 series,

PDP (Personal Data Processor)

4th gen

1971 to 1984

1. इसमें VLSI (Very Large Scale Integration) technology का use किया गया था.

2. इन computers में processor का use किया गया.

3. Size छोटा हो गया था.

4. पहले के मुकाबले सस्ता.

5.  इसे set up करने के लिए AC की आवश्यकता नहीं पड़ती थी.

6. 4th gen में ही internet और operating system का विकाश चालू हो गया था.

7.इसमें C, C++ languages का support था.

8. Super Computer का विकाश हो रहा था.

 

STAR 1000,

PDP 11,

CRAY-1(Super Computer)

5th gen

1984 to Present

1. इसमें VLSI  से और एडवांस ULSI(Ultra Large Scale Integration) technology  का use किया गया है.

2.इस जेनरेशन में छोटे-छोटे माइक्रोप्रोसेसर का निर्माण होने लग गया.

3.  AI (Artificial Intelligence), parallel processing hardware, Quantum calculation को develop  किया  गया.

4.High Level Language C, C++, JAVA, Python, VB डिवेलप होने लग गए.

5. Powerful computers बहुत ही सस्ते दाम पर मिलने लग गए.

6. user-friendly interfaces with multimedia features

Desktop

ChromeBook

UltraBook

Laptop

NoteBook

कंप्यूटर के लाभ. Advantages of Computer. Computer की विशेस्ताए:-

दोस्तों अगर हम कंप्यूटर से मिलने वाले लाभ के बारे में बात करें तो इसमें कोई आशंका नहीं है हमें कंप्यूटर से बहुत सारे लाभ प्राप्त होते हैं.अगर हम अभी के समय की बात करें  तो कंप्यूटर का उपयोग हर जगह हो रहा है जैसे कि सारे स्कूल कॉलेज  मैं ऑनलाइन स्टडीज के रूप में, सारी कंपनी अपने महत्वपूर्ण डाटा को स्टोर करने और अपने सारे टेक्निकल कामों को करने के लिए किया जाता है,  अभी के लॉकडाउन के समय मैं लैपटॉप या डेक्सटॉप बहुत ही जरूरी हो चुका है. तो दोस्तों चले हम लोग कंप्यूटर के कुछ  लाभ के बारे में जान लेते हैं:-
 
Speed( गति) :- Computer   एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जिसकी मदद से हम लोग कोई भी काम को चुटकियों में solve कर सकते हैं जिस काम को किसी आदमी को करने के लिए पूरे दिन लग सकता है उसी same काम को एक कंप्यूटर  कुछ सेकंड या मिनटों में कर सकता है.
 
Multitasking (बहु कार्यण):- अभी के समय में हम कंप्यूटर का यूज करके एक ही साथ बहुत सारे काम को कर सकते हैं  तो इसकी मदद से हमें अपने Productivity को increase करने की क्षमता बढ़ जाती है.
 
Accuracy(सटीकता):- एक आदमी अगर कोई काम को करता है तो उस आदमी की Accuracy  इतने अच्छे नहीं होते. परंतु अगर एक कंप्यूटर उस काम को करें तो  उसकी Accuracy इतनी बढ़ जाती है कि उसमें गलती होने की कोई शंका होती ही नहीं. 
 
Versatility (बहुमुखी प्रतिभा):-  हम कंप्यूटर में केवल एक काम नहीं कर सकते हैं. हम कंप्यूटर में बहुत सारे कामों को एक साथ कर सकते हैं जैसे हम कंप्यूटर को कैलकुलेटर के रूप में भी यूज कर सकते हैं. हम कंप्यूटर को टाइपराइटर के रूप में भी यूज कर सकते हैं, और भी बहुत सारे काम हो सकते हैं कंप्यूटर पर. तो  यह एक बहुमुखी प्रतिभा वाला मशीन.
 
Automated Machine (स्वचालित मशीन):- कंप्यूटर को चलाने के लिए बस हमें कमांड देने की जरूरत पड़ती है बाकी सारे काम कंप्यूटर खुद से कर लेता है. तो इसे हम स्वचालित मशीन कह सकते है. 
 
Communication(संचार):- कंप्यूटर ऐसी डिवाइस है जिसकी मदद से हमें नेटवर्किंग  मैं भी बहुत हेल्प मिलती है जिसके कारण हम लोग इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के साथ  कम्युनिकेट कर सकते हैं  और इंटरनेट के साथ ही कनेक्ट हो सकते है.
 
Reliability(विश्वसनीयता):- कंप्यूटर हर चीज में बहुत ही विश्वसनीय होता है.  आप कंप्यूटर को कोई भी प्रॉब्लम सॉल्व करते समय विश्वास कर सकते हैं यह  लगभग हर चीज में सही होता है.
 
लगन/ परिश्रमी :- कंप्यूटर को आप जितने भी काम दे दो वह आराम से कर लेता है पर वह कभी थकता नहीं है कंप्यूटर बहुत ही  परिश्रमी होता है. 
 
Data Store(डेटा भंडार):- Computer में storage के लिए अलग section होता है जिसमे आप अपने important data को store कर सकते है.
 

कंप्यूटर के हानि. Disadvantages of computers.

 
जैसे हम लोग जानते हैं कि कोई भी  हमें अगर इतने सारे फायदे मिलते हैं तो उस चीज को यूज करने के बहुत सारे क्षति भी हो सकते हैं तो हम  टॉपिक के अंदर कंप्यूटर के द्वारा होने वाले हानी के बारे में जान लेते हैं:-
 
1. समय की बर्बादी:- दोस्तों अभी के समय में  कंप्यूटर बहुत ज्यादा use हो रहा है और बोहोत ज्यादा वेवजह use करने के चलते समय की बर्बादी भी बोहोत हो रही है.
2. कंप्यूटर के ज्यादा use से लोगो में बोहोत सारे बीमारी भी हो रही है.
3. Cyber Attack:- कंप्यूटर की वजह से ही है Cyber attack जैसे खतरनाक चीजें अभी के समय में हो रही है.
4. Computer virus :- कंप्यूटर के मदद चाहिए कंप्यूटर वायरस बनाकर कोई भी दूसरे कंप्यूटर में भेज दिया जाता है जिससे वह कंप्यूटर क्रश हो जाती है या फिर खराब हो जाती है.
5. Cyber Crime:- अभी के समय में साइबर क्राइम बढ़ती जा रही है अधिकतर साइबर क्राइम कंप्यूटर की मदद से ही किया जाता है. जैसे साइबरबुलीइंग, attacking इत्यादि.
6. नौकरी की कमी:-  दोस्तों अभी के समय में बहुत सारे ऐसे जगहों में कंप्यूटर की मदद से काम हो रही है जिसकी वजह से बहुत सारे लोगों को नौकरी से निकाल दिया जा रहा है और जिससे नौकरी में कमी की समस्या उत्पन्न हो रही है.
 

कंप्यूटर का उपयोग. Use of Computer in Hindi:-

 
1. Health के क्षेत्र में :-   दोस्तों अभी हेल्थ के क्षेत्र में कंप्यूटर की अहम भूमिका है. अभी के समय में जितने भी टेस्टिंग मशीन  उपलब्ध है  वह सभी मशीन कंप्यूटर के माध्यम से ही चलती है. अगर कंप्यूटर नहीं होता तो यह सारी मशीन भी नहीं होते और हेल्थ के क्षेत्र को हम इतने ज्यादा  विकसित भी नहीं कर पाते.
 
2.Business के क्षेत्र में :-  दोस्तों अभी हर एक ऑफिस कंपनी में कंप्यूटर्स की अहम भूमिका रहती है और वो भी ऑफिस में सारे काम करने के लिए कंप्यूटर का ही यूज करता है. और हर एक बिजनेस में Important डाटा को स्टोर करने के लिए भी कंप्यूटर का यूज किया जाता है.
 
3. Education System me :-  दोस्तों अभी के समय में शिक्षा के क्षेत्र में भी कंप्यूटर की अहम भूमिका रहती है. दोस्तों जैसे हम देख सकते हैं किस लॉकडाउन में कंप्यूटर की एक अहम भूमिका है शिक्षा के क्षेत्र में क्योंकि हर एक स्कूल या कॉलेज में अभी ऑनलाइन क्लासेस चल रही है और इन  ऑनलाइन क्लास को करने के लिए हमें एक कंप्यूटर या फिर स्मार्टफोन की जरूरत पड़ती है.
 
4. Science & Technology :- दोस्तों टेक्नोलॉजी में भी कंप्यूटर की  अहम भूमिका रहती है अभी के समय में जिस हिसाब से टेक्नोलॉजी बढ़ती जा रही है को देखते हुए हमें यह लगता है कि भविष्य में और भी ज्यादा टेक्नोलॉजी का विकास होगा.
 
5. Defence क्षेत्र में :-  दोस्तों अभी के समय में defence में भी  कई सारे कामों को  सुरक्षित तरीके से करने के लिए कंप्यूटर का विशेष योगदान रहा है. कंप्यूटर की मदद से ही एक जगह से दूसरी जगह तक  वार्तालाप अच्छे से हो पाता है.
 
6. Entertainment  क्षेत्रों में :-  अभी के समय में एंटरटेनमेंट के  क्षेत्र में भी कंप्यूटर की  अहम भूमिका रहती है. कंप्यूटर की मदद से  हम लोग मनोरंजन के लिए गेम्स खेलते हैं मूवी देखते हैं और सोशल नेटवर्किंग  इत्यादि.
 
7. Sports के क्षेत्र में :-  दोस्तों अभी के समय में खेल जगत में भी कंप्यूटर का उपयोग होने लग गया है जिसकी मदद बहुत ही ज्यादा एक्यूरेट या सटीक चीजें पता चलती है.
 
8. Government और बैंकों के क्षेत्र में :-  दोस्तों की सभी गवर्नमेंट के क्षेत्र में कंप्यूटर का ज्यादा से ज्यादा उपयोग हो रहा है जिसकी मदद से   कार्यकर्ता काम भी कर रहे हैं और Important Data को स्टोर करने के लिए भी कंप्यूटर का यूज किया जा रहा है.  अभी के समय में हर एक बैंक में सारे काम कंप्यूटर से ही हो रहे हैं जो एक बहुत ही महत्वपूर्ण चीज है और बैंक में भी डाटा  स्टोर करने के लिए कंप्यूटर यूज किया जा रहा है.
 

Final Words :-

दोस्तों मेरे कोई आशा है कि आप लोगों को मेरे द्वारा लिखा गया है आर्टिकल   समझ आ चुका है दोस्तों अगर कोई सवाल या सुझाव हो या फिर आपको कोई और टॉपिक   पर आर्टिल चाहिए  तो आप प्लीज मुझे नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन पर कमेंट करें या फिर आप मुझे हमारे Official mail ID techreviewpad@gmail.com  पर mail कर सकते हैं.
और दोस्तों अगर मेरे द्वारा लिखा गया यह article पसंद आया तो आपलोग कृप्या करके अपने दोस्तों और परिवार वालो से share जरुर करे. Thank You!!!!!

 

 

Spread the love

Leave a Comment