What is Internet? Internet काम कैसे करता है?पूरी जानकारी.

Spread the love

What is Internet in Hindi? Internet के बारे में पूरी जानकारी.

दोस्तों आप सभी को आपके website www.techreviewpad.com में स्वागत करता हु. में आपको इस article में एक बोहोत ही महत्वपूर्ण topic INTERNET के बारे बताने जा रहा हु. अगर दोस्तों आपलोग internet के बारे में पूरी जानकारी पाना चाहते हो तो आप सही जगह पे आए हो. अगर हम अभी के समय की बाते करे तो अभी हर कोई internet चलता है. और अभी के समय में internet के बिना कोई भी काम नहीं हो सकता है. क्यों की अभी के इस आधुनिक समय में कोई भी बड़ी बड़ी company अपने data को ऑफलाइन के वजह ऑनलाइन ही store करना पसंद करती है.

अभी आप किसी को भी देखो तो वो हमेसा अपना time pass करने के लिए वो मोबाइल पे ही busy रहते है. और वो मोबाइल पर internet से जुडी ही कोई जरुरी काम या time pass कर रहे होते है.but हमेसा मोबाइल से जुड़े रहना एक बोहोत ही गन्दी आदत है. और इससे हमें नुकसान भी बोहोत होता है. तो चलिए दोस्तों अभी internet के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करते है.

What is Internet in Hindi? Internet क्या है?

Internet
Internet

Internet एक Interconnected Network या बोहोत सारे Network का Interconnection को ही internet कहा जाता है. Internet एक प्रकार का जाल है जिसके माध्यम से अनगिनत network एक साथ जुड़े होते है यह जाल Wired या wireless दोनों हो सकते है. Internet से कोई भी जुड़ सकता है  बस उसे internet के protocols का पालन करना होता है.Internet के माध्यम से कोई दो computers में कोई data का आदान प्रदान करने के लिए TCP/IP Protocol की जरुरत पढ़ती है. 

 

What is Internet called in Hindi. internet terminology in hindi:-

Internet को English में Interconnected Network भी बोला जाता है.और Internet को Hindi में अंतरजाल भी बोला जाता है.

Internet किसका उदहारण है:-

Internet एक wide area network का एक अच्छा उदहारण  है.

जितने भी Device internet से जुड़े होते है उन सबकी एक अलग पहचान होती हैं. उस unique identity को IP(Internet Protocol) बोला जाता है.

How Internet Works? Internet कैसे काम करता है?Structure/Architecture of Internet in Hindi.

तो दोस्तों इसमें हम यह समझते है की internet कैसे काम करता है यह समझने से पहले हमें यह समझना पड़ेगा की Internet provider कंपनिया काम कैसे करती है. Internet की दुनिया में ISP (Internet Service Provider) Companies को तिन भागो में बांटा गया है:-1) Tier I, 2) Tier II  3) Tier III
अब हमलोग थोडा यह समझ लेते है की इन Tiers में कौन कौन सी कंपनी होती है.
1) Tier I:- टियर I में वो कंपनिया होती है जो Opticle Fiber Cables को सारे महासागरो के अंदर फैला रखा है. इन ऑप्टिकल फाइबर cables को internet का backbone भी बोला जाता है. इन्ही cables के द्वारा ही हम आज के समय में इतनी फ़ास्ट Internet को access कर पाते है.
2)Tier II:- Tier II में वो कंपनिया होती है जिससे हम आज internet access कर पाते है. इसमें सारे Telecom कंपनिया होती है जो आज के समय में internet provide करवाते है.जैसे :- airtel, Vodafone, Jio, idea etc
3)Tier III:-  Tier III में वो company होती है जो सारे लोकल area की कंपनिया होती है.जैसे अगर देखे तो लोकल में ज्यादातर broad band कंपनिया ही होती है.
Tier I की ही जो कंपनिया होती है वो internet को हर जगह पहुचाने में अहम भूमिका निभाती है. 
 
Tier II और Tier III कम्पनीज की मदद से ही हमें Internet provide होता है और Tier II और Tier III कम्पनीज को Tier I company Optical fiber केबल की मदद से ISPs के Network Tower तक internet पहुचाया जाता है.
Internet में सारे computers एक दुसरे से connected रहते है. पर इन्हें एक दुसरे से communicate करने के लिए TCP/IP की जरुरत पढ़ती है.

TCP/IP (Transmission Control Protocol / Internet Protocol) क्या है?

TCP/IP network communication के लिए एक माध्यम का काम करती है.जो internet पर उपलब्ध Networks को Inter connect करने के लिए किआ जाता है. TCP/IP का उपयोग Local area network या प्राइवेट network में communication करने के लिए भी किया जाता है  जैसे Intranet. इन protocols के भी बोहोत सारे rules होते है.
TCP/IP ये ensure करती है की हम data को Computer Networks के अंदर end to end exchange कैसे करे.
Protocol के सेट में TCP और IP दो मुख्य Protocol है हम अभी बारी-बारी से दोनों protocol के बारे में जानेंगे:-
TCP:- इसका पूरा नाम Transmission Control Protocol है. TCP सबसे पहले communication data को transmit करने के लिए एक channel बनता है. उसके बाद उस data को छोटे-छोटे packets में तोड़ कर उस data को Channel के through भेजता है और उस data packets को destination तक पहुचने के बाद उसे सही तरीके से Reassemble भी करता है.
IP:-  IP का उपयोग data packets को सही direction में सही address के साथ destination तक पहुचना होता है.
जब data packets forward हो रहे होते है तो हर gateway network इस IP address को check करता है की इस data packets को कहा भेजना है.

History of Internet in Hindi? Internet कब और किसने बनाया. Internet का प्रथम बार कब प्रोयोग हुआ.

इसमें हम यह समझेंगे की History of Internet in Hindi. Internet कब बना और किसने बनाया और Internet का प्रथम बार प्रोयोग कब हुआ को हिंदी में समझंगे:-
  1. सबसे पहले internet का उपयोग अमेरिकी रक्षा विभाग के द्वारा साल 1969 में किया गया था. इसे ARPANet का नाम भी दिया गया .ARPANet का fullform Advance Research Project Agency Network है.
  2.  ARPANet में चार दूर के कंप्यूटर आपस में जुड़े गए थे.
  3. उसके बाद सन 1970 में Vinton Grey Carf & Roboert E. Kanh के द्वारा internet की सुरुआत की गई थी.
  4. इसीलिए Vinton Grey Carf & Roboert E. Kanh को internet का जनक भी बोला जाता है.
  5. सन 1972 में रेटॉमलिसंन के द्वारा पहला email भेजा गया. इसके बाद से email का प्रोयोग सन्देश भेजने में किआ जाने लगा.
  6. सन 1979 में ब्रिटिश डाकघर पहली बार internet का उपयोग official कामो को करने में किया जाने लगा.
  7. सन 1984 में करीब करीब 1000 से ज्यादा computers से जुड़ चुके थे. और धीरे -धीरे  एक internet एक बड़े स्तर पे काम करना शुरू कर चूका था.
  8. सन 1986 में एक और High Speed Network  NSF Net तैयार किया गया जिसका निर्माण National Science Foundation के कुछ कंप्यूटर को जोड़ कर बनाया गया था. इसके करण internet थोडा एडवांस हो चूका था.
  9. सन 1989 में internet को सारे लोगो के लिए open कर दिया गया. इसके वजह से internet लोगो में और भी ज्यादा Popular होता चला गया.
  10. सन 1990 में टीम बर्नर ली के द्वारा पहला web browser  www(world wide web) की खोज की गई. इसे पहला web browser माना जाता है और इसके वजह से internet की दुनिया में एक नया मोड़ आ चूका था. और इसके बाद और नये नये browser आते गए.और internet की लोकप्रियता बढती ही जा रही थी. और ज्यादा से ज्यादा लोग internet के माय्ध्यम से एक दुसरे से जुड़ रहे थे.

भारत में Internet की शुरुआत कब हुई थी और कैसे हुई? भारत में internet का विकास.

दोस्तों इसमें हमलोग यह जानने वाले है की internet क्या उपयोग भारत में कैसे शरू हुआ. या भारत में internet का इतिहाश क्या है और भारत में Internet की शुविधा कब प्राप्त हुई:-
  1. भारत में Internet की शुरुआत 15 अगस्त 1995 को हुआ था. जो Videsh Sanchar Nigam Ltd के द्वारा लाया गया था.
  2. पहला internet connection Videsh Sanchar Nigam Ltd के द्वारा अपने telephone लाइनों से ब्रॉडबैंड के द्वारा चलाया गया था.
  3. शुरुआत के समय में Internet बोहोत कम ही लोगो के पास मौजूद था. इसमें खली बड़े बड़े Organisation के पास ही Internet connection होती थी. और वो उनका use जरुरी conversation में ही use होता था.
  4. पहले internet का स्पीड बोहोत ही slow करीब 9 से 10 Kbps होता था.
  5. 90s के दसक में भारत में भी internet Popular होना चालू हो चूका था. और लोग इसके और आकर्षित हो रहे थे.
  6. करीब 1992 तक बोहोत सारे बड़े बड़े सहरो में internet पहुच चूका था.
  7. सन 1996 में पहला email site Redifmail चालू किया गया.
  8. सन 1997 में Noukri.com जैसे बड़ी site खुली थी. इसके बाद एक से एक बड़ी बड़ी site आना चालू हो गई.
  9. और इस के बाद सन 2000 में भारत सरकार के द्वारा Internet से सम्बंधित Cyber Crime Act लागु किए गए. इसके बाद से internet users धीरे धीरे बढ़ते चले गए.
  10. और 2009 में 3g internet की स्थापना की गई जिससे की internet और भी फ़ास्ट होगी 3g का स्पीड करीब 7.2 Mbps थी.
  11. उसके बाद करीब 2014 में पहली बार 4g की सेवा पहली बार बैंगलुरु में शुरू किआ गया था.और 4g के बाद internet की दुनिया ही change होगी है और 4g की स्पीड की बात करे तो यह करीब 3g से 10 गुना से भी ज्यादा तेज है यह करीब 100 Mbps. और 4g के समय भारत में internet बोहोत सस्ता भी हो गया और internet में ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ने भी लग गए. अभी के समय में भारत में सबसे ज्यादा internet use करने वाले लोग पाए जाते है.

Internet की पहली वेबसाइट कौन सी थी?

अगर हम Internet की पहली वेबसाइट की बाते करे तो टीम बर्नर ली जिन्हें web browser का जनक मन जाता है. उन्होंने ही www(world wide web) की खोज के बाद ही उन्होंने अपना पहला वेबसाइट को 6 अगस्त 1991 को सभी आम जनताओ के लिए लाइव किया था.और टीम बर्नर ली ने दुनिया की सबसे पहली वेबसाइट को 20 December 1990 को नेक्स्ट कंप्यूटर पर बनाया गया था.
इस वेबसाइट के माध्यम से उन्होंने  Server setup करने और सारे shared files को access करने का तरीका भी बताया था.अभी भी आप दुनिया की सबसे पहले वेबसाइट को access कर सकते है.
दुनिया की सबसे पहले वेबसाइट का address info.cern.ch है.इस वेबसाइट address पे जाकर हम दुनिया की सबसे पहले वेबसाइट को देख सकते है.
worlds first website home page
Screenshot of worlds first website home page

भारत की सबसे पहली वेबसाइट कौन सी थी ? India’s first website.

भारत में सबसे पहले internet की शुरुआत 15 अगस्त 1995 को हुआ था. और उसके बाद भारत में सबसे पहले email site 1996 में Redifmail के नाम से शुरू हुई और भारत की सबसे पहले website की बाते करे तो 1997 में बनी और इसका नाम naukri.com था. मेरे ख्याल से आप सभी को naukri.com के बारे में पता ही होगा और अपलोगो में से कई लोग इसका इस्तेमाल भी कर चुके होंगे.

Internet का मालिक कौन है? Who Owns Internet?

अगर आप सही मायने में यह जानना चाहते हो की internet का मालिक कौन है. तो में आपको बता दू की internet का मालिक सही मायने में किसी को भी बोला नहीं जाता है.
लेकिन फिर भी आपलोग को अगर internet के मालिक के बारे में जानना है तो आपलोग internet पहुचाने वाली कंपनी जैसे Tier I, Tier II और Tier III को बोल सकते है. मेने इस Tier I, Tier II और Tier III के company के बारे में आपको इसी आर्टिकल में internet कैसे काम करता है में समझा चूका हु. अगर आप इस article को शुरू से पढ़ रहे होगे तो मेरे ख्याल से आप समझ चुके होगे.

Advantages Of Internet. Internet के लाभ. Good application of Internet:-

अगर हम internet से प्राप्त लाभ की बात करे तो हमें Internet के बोहोत सरे फायदे होते है. Good Application of internet in Hindi:-
  1. Education:- अभी के समय  में ऑनलाइन class Internet के माध्यम से ही possible हुआ है. जिसके वजह से आने जाने का समय बचा सकता है और आप class को कभी भी देख सकते हो.
  2. Net Banking:- अभी के समय में हमें कोई भी bank से सम्बंधित काम करने के लिए bank जाने की आवासकता नहीं है.आप घर बैठे ही सारे काम कर सकते है.
  3. Online Bill Pay or Recharge:- अभी के समय में हमलोग ऑनलाइन bill या recharge बड़े ही आराम से कर सकते है.
  4. Social Networks:- Social network के use से हम अभी के समय में दुनिया के हर कोने से जुड़े रह सकते है.
  5. Online Ticket booking:- अभी के समय में हर एक के लिए जैसे ट्रेन ticket, airplane ticket ,मूवी ticket आदि हम internet की मदद से ही घर बैठे ही बड़े आराम से बुक कर सकते है.
  6. Live Video Calling:-  Internet की मदद से ही हम लाइव video कालिंग कर सकते है.
  7. Entertainment:-  Internet की मदद से हम मूवी देख सकते है, गाना सुन सकते है, ऑनलाइन video games खेल सकते है.
  8. Knowledge:- Internet एक knowledge का भंडार है.यहाँ पे आप किसी वक्ति, बस्तु, स्थान और बहुत सारी चीजो के बारे में details में जानकारी प्राप्त कर सकते है.
  9. Online Shopping:-  Internet की मदद से आप घर बैठे ही shopping कर सकते है. और वह सामान आपके घर तक direct पहुच जाता है.
  10. Freelancing:- आप घर बैठे ही internet की मदद से बोहोत सरे पार्ट time जॉब कर सकते है.
  11. Work From Home:- Internet के help से ही work from होम possible हो पाया है. और आप अभी घर बैठे ही अपने ऑफिस के सारे कम कर सकते है.
  12. और भी बोहुत सारे फायदे है internet के.

Disadvantages Of Internet. Internet के हानि. Bad application of Internet:-

Internet के जितने फायदे है उतने ज्यादा नुकसान भी है.तो हम इस टॉपिक में internet के नुकसान के बारे में जानेंगे Bad application of Internet in Hindi:-
  1. Cyber Crime:- यह मेरे ख्याल से internet का सबसे बड़ा नुकसान है. Internet की मदद से लोग unethical hacking करके किसी भी bank या फिर कोई भी बड़े बड़े organisation के वेबसाइट हो हैक करके उनके important data को चुराया जा सकता है.
  2. Waste of time:- जब भी हम internet का use करते है तो हम internet के addict हो जाते है.और इससे हमारा बहोत सारा time वैसे ही waste हो जाता है.
  3. Pornography:- Internet में बोहोत सारी ऐसे websites होती है जो Porn को promote करती है और इसे कम उम्र के बच्चे देखते है तो उनके मन में गलत-गलत विचार धराए आने लगती है.
  4. Health Effects:- Internet के Addiction की वजह से हेल्थ पर बोहोत गहरा प्रभाव पढ़ सकता है. और बोहोत सारी बमारिया जैसे की आँखों में दर्द, सर दर्द आदि हो सकती है.
  5. Incorrect Information:- इसमें बोहोत से जगह में लोगो के ज्ञान के अभाव में लोगो को Incorrect Information पहुचाया जाता है.
  6. Computer Virus:- Internet में बोहोत सारे कंप्यूटर वायरस मुजुद होते है. और यह internet की मदद से ही आपके कंप्यूटर तक पहुच सकते है.
  7. Spam Emails:- जब भी आप email use करते है तो आप देकते होंगे की आपके पास बोहोत से ऐसे emails होते है जो आपके कोई काम की नहीं होते और कभी-कभी तो स्पैम emails में ऐसे ऐसे लिंक होते है जिसपे आप अगर click करते होतो आपका email account ही hack हो सकता है इस प्रक्रिया को Fishing कहते है.
  8. internet के और भी बोहोत सारे नुकसान होते है. जो internet use करने पर हो सकते है.

Conclusion:-

मुझे लगता है की मेरे द्वारा लिखा गया यह article Internet क्या है?कैसे कम करता है? और Internet का इतिहाश अच्छे से समझ आ गया होगा. और अगर आपको कुछ भी समझ नहीं आया या फिर कोई सवाल या सुझाव है या फिर अपलोगो को कोई और topic में article चाहिए तो कृप्या करके मुझे comment section में comment करे. या आप हमारे official mail ID techreviewpad@gmail.com पे mail कर सकते है.
और इस article को ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों के साथ share करे. Thank You!!!!!


Spread the love

Leave a Comment